भारत में मातृत्व अवकाश केवल महिलाओं को ही दिया जाता हैं लेकिन एक कंपनी ने पुरुषों को भी पिता बनने पर अब छुट्टी मिलेगी. यह अभिनव पहल की हैं ऐप बेस्ड फूड डिलिवरी कंपनी जोमेटो ने. जोमेटो ने कहा कि महिलाओं को मातृत्व अवकाश के साथ-साथ अपने पुरुष कर्मचारियों को भी पिता बनने पर 26 सप्ताह का वेतन के साथ अवकाश देगी.

कंपनी के फाउंडर और सीईओ दीपिन्दर गोयल ने एक ब्लॉग में कहा कि परिवार की देखभाल के लिए कर्मचारियों को सहूलियत देने और सशक्त करने के लिए कंपनी नए अभिभावकों को हर बच्चे के लिए 1,000 डॉलर (करीब 70,000 रुपये) की एकमुश्त सहायता राशि भी देगी ताकि वह अपने नए बच्चे का इस दुनिया में स्वागत कर सकें.

zomato delivery
ऐप बेस फ़ूड डिलीवरी में जोमाटो जाना-पहचाना नाम बन चूका हैं

गोयल ने कहा कि नए बच्चे का इस दुनिया में स्वागत करने को लेकर महिला और पुरुषों के लिए छुट्टियों की अलग-अलग व्यवस्था बहुत असंतुलित है. 13 देशों में काम करने वाली जोमेटो कंपनी के गोयल ने कहा कि सरकार के नियमानुसार हम दुनियाभर में अपनी महिला कर्मचारियों को 26 हफ्ते का वेतनशुदा मातृत्व अवकाश दे रहे हैं. हम अपने पुरुष कर्मचारियों को भी यही सुविधा प्रदान करेंगे.

उन्होंने कहा इतना ही नहीं, यह योजना नए बच्चे को जन्म देने वाले अभिभावकों के अलावा सेरोगेसी, गोद लेने या समान लिंग के जीवनसाथियों के अभिभावक बनने वालों को भी उपलब्ध होगी.

zomato founders
जोमाटो के संस्थापक

जोमेटो की स्थापना 2008 में दीपिन्दर गोयल और पंकज चड्ढा ने की थी. फिलहाल यह कंपनी 24 देशों में अपना कारोबार कर रही है. यह रेस्टोरेंट की जानकारी, उनका रिव्यू और मीन्यू की जानकारी उपलब्ध कराती है, जिनकी अपनी खुद की वेबसाइट नहीं है. इसके साथ ही फूड की आनलाइन डिलिवरी भी यह करती है.

इसका मुख्यालय गुड़गांव में है. जोमेटो ने दुनियाभर में 12 स्टार्टअप का अधिग्रहण किया है. जोमेटो की वैल्यू करीब 2 अरब डॉलर हो गई है.

Story Inputs : Financial Express

Comments

comments