शिकायत का हिस्सा तो हर बार बनते है लेकिन एक बार निवारण का हिस्सा बनते हैं.

गंगा-जमुनी तहज़ीब के लिए प्रसिद्ध लखनऊ के एक सामाजिक कार्यकर्त्ता पर यह पंक्तियाँ सटीक बैठती हैं. मलीन बस्ती के बच्चो के उत्थान हेतु शुरू की गई इनकी पहल अब तक कई आयामों तक पहुँच चुकी हैं. शिक्षा, स्वास्थ्य एवं सामजिक भाईचारे के लिए उनके काम बदलाव की बयार चला रहे हैं. साधारण शुरुआत अब एक व्यापक आन्दोलन बन गया हैं और अब संस्था की चार एकेडमिया संचालित की जा रही है. शिक्षा के जरिये बदलाव की कोशिश कर रहे है सोमनाथ कश्यप.

सोमनाथ कश्यप अपने संस्थान ‘बदलाव-एक कदम शिक्षा की ओर‘ के जरिये गरीब एवं जरूरतमंद बच्चों को पढ़ाने का काम कर रहे है. उत्तरप्रदेश के लखनऊ शहर में लोगो की मदद से अभी चार सेण्टर चला रहे है. इनके संस्थान से अब तक 120 से ज्यादा लोग जुड़ चुके है. पिछले चार सालों में 140 बच्चो का प्राथमिक शिक्षा के उपरांत सरकारी विद्यालय मे दाखिला करा चुके है.

badlav team
समाज में बदलाव का जरिया बन रही है बदलाव टीम

बी पॉजिटिव इंडिया से बातचीत में सोमनाथ कश्यप बताते है कि 2015 मे आलमबाग स्थिति मलीन बस्ती के बच्चो के उत्थान हेतु इस संस्था की शुरुआत की. इसके बाद मेरे मित्र सतीश गुप्ता, शानू पाल, अभय सिंह, आनंद कश्यप, आकाश पाल, संदीप सिंह, सागर कुमार, शिवम सोनी, शाहरूख खान, मोहित कश्यप, अभिषेक कश्यप, जानवी कुमार, वर्षा वर्मा , अमरपाल, पल्लवी सिंह, अंशिका सिंह, हर्षिता तनेजा, रजत भारती, विवेक शुक्ला के साथ ही कई लोग जुड़ते गये और यह एक व्यापक आन्दोलन बन गया.

वर्तमान मे संस्था की चार एकेडमिया संचालित की जा रही है जो लखनऊ के निम्नलिखित क्षेत्रों में है : 1. अंजता हॉस्पिटल के सामने, 2. नेक्सा शोरूम के पीछे, 3. बारा बिरवा के पास और 4. मवाइया.

somnath with kids 2
बच्चों के साथ बदलाव टीम

बच्चों को प्राथमिक शिक्षा दी जाती है और इसके बाद इनका दाखिला सरकारी विद्यालय में करवाया जाता है. बच्चों को आर्थिक सहायता देकर पढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है. साथ ही इनके माता-पिता को भी शिक्षा के बारे में जागरूक करके पढाई के लिए बेहतर माहौल बनाने की कोशिश करते है.

सोमनाथ आगे बताते है कि ‘बदलाव-एक कदम शिक्षा की ओर’ के जरिये विभिन्न कार्यक्रम संचालित किये जा रहे है. जिनकी जानकारी कुछ इस प्रकार है :

अधिशेष भोजन योजना : संस्था विगत 4 वर्षो से एक मुहिम संचालित कर रही है जो शादी पार्टी,भण्डार्,लंगर रेस्टोरेंट में बचे हुए भोजन को जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे है. धार्मिक एवं सामाजिक संस्थाओं के साथ ही रेलवे और अन्य सरकारी विभाग भी हमसे संपर्क करते है. अब तक संस्था के माध्यम से लगभग 6-7 लाख लोगो को भोजना कराया जा चुका है.

food distribution on road
शेष बचे हुए भोजन को जरूरतमंदो तक पहुंचा रही है बदलाव टीम

टीफिन वितरण योजना : संस्था इस योजना के माध्यम से सरकारी स्कूलो के बच्चो को टीफिन वितरित करती है जिससे वह सरकार द्वारा संचालित मीड डे मील को सरलता पूर्वक ले सके.

स्वच्छता अभियान : संस्था स्वच्छता के लिए विगत वर्षो से काम कर रही है. निरंतर सफाई अभियान के साथ ही नुकड़ नाटक के माध्यम से लोगो को जागरूक करती है. अब तक लखनऊ शहर व उसके आस पास के गाँवो मे कर चुकी है.

महिला सशक्तिकरण : संस्था की महिला विंग है.उसके माध्यम से महिलाओ के सेनेटेरी पेड उपलब्ध करवाए जाते है ओर उन्हे जागरुक करती है. अब तक 100 से ज्यादा मलीन बस्तियों मे काम कर चुकी है.

वस्त्र व कम्बल वितरण : संस्था के माध्यम से मलीन बस्तियों व सड़क पर रहने वालो को कम्बल व कपड़े वितरित करती है.

somnath with kids
जरूरतमंद बच्चों के चेहरों पर मुस्कान बिखेर रही है बदलाव टीम

त्यौहार पर खुशियाँ बाटना : संस्था होली,दिवाली,ईद आदि त्यौहारो पर मलीन बस्तियो के परिवारो संग खुशियाँ बाटती है और उन्हे त्यौहार के हिसाब से उपाहार देती है, जैसे दिवाली मे पटाखे,बंदूक,मिठाई आदि

महान पुरूषो की जयंती व पुण्यतिथि : देश के महान व्यक्तित्वो के जन्म दिवस व पुण्य तिथि पर संस्था के बच्चो को उनके विषय मे एक उत्सव के संग जानकारी देते है.

इसके साथ ही लखनऊ में विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है. यह भण्डारा लखनऊ की तहज़ीब व अदब के मुताबिक मुकम्मल होता है एवं भाई चारे एकता की मिसाल कायम करता है. इस भण्डारे का मुख्य उद्देश्य भाई चारे,सद्भाव,प्रेम व एकता अखण्डता को संचारित करने का है जिससे समाज मे सकरात्मक दृष्टिकोण बना रहे. इसके साथ ही संस्थान कई नवाचार करता है जिनमें लखनऊ यूथ फेस्टिवेल-2019 और योग दिवस का आयोजन भी शामिल है.

Awards to somnath
सामाजिक कार्यों के लिए कई अवार्ड्स मिल चुके है सोमनाथ कश्यप को

आपको बता दे कि सोमनाथ कश्यप के पिता ऑटो ड्राइवर है और विषम परिस्थितियों में भी उन्होंने सोमनाथ की पढाई पूरी करवाई. आर्थिक दिक्कतों के कारण सोमनाथ को संघर्ष करना पड़ा और वो जरूरतमंदों की पीड़ा समझते है. वो चाहते है कि उन्हें जिन दिक्कतों का सामना करना पड़ा, वो किसी और को ना करना पड़े. विपरीत हालत ही उनके प्रेरणास्श्रोत है.

अगर आप भी सोमनाथ कश्यप या ‘बदलाव-एक कदम शिक्षा की ओर‘ से जुड़ना चाहते है तो यहाँ क्लिक करे !

बी पॉजिटिव इंडिया, सोमनाथ कश्यप और ‘बदलाव-एक कदम शिक्षा की ओर’ की पूरी टीम के कार्यों की सराहना करता है. उम्मीद करता है कि आप से प्रेरणा लेकर लोग समाज में बदलाव की कोशिश करेंगे!

Comments

comments