देश में ग्रामीण शिक्षा के स्तर के बारे में सबको पता है लेकिन अभी हाल ही में आयी रिपोर्ट ने कई लोगो की आँखे खोल कर रख दी. रिपोर्ट के अनुसार आधे से ज्यादा ग्रामीण बच्चे आठवीं पास करने के बाद भी किताब नहीं पढ़ पाते है और मुलभुत गणितीय गणनाए भी हल नहीं कर पाते है. देश के नीति – निर्धारकों की इस रिपोर्ट से भले ही नींद न उड़े लेकिन देश के आमजन में चहल पहल शुरू हो गयी है.

देश के साथ ही बिहार राज्य भी इस रिपोर्ट में फिसड्डी साबित हुआ. वो राज्य जो देश में सबसे अधिक आईएएस, IPS और IITian देने के लिए जाना जाता है, उस प्रदेश की यह हालत चिंतनीय है. कारण कई हो सकते है लेकिन समाधान एक ही है कि अगर समय रहते ध्यान नहीं दिया तो हमारी आने वाली पीढ़ी को गुलामी से कोई नहीं रोक सकता.

इसी समस्या के समाधान के लिए हमें चर्चा करनी होगी. देश के शिक्षा क्षेत्र में काम करने वाले लोगों से, अध्यापकों से , छात्रों एवं उनके माता-पिता से. क्योंकि इतिहास गवाह है कि बड़ी से बड़ी समस्याओं का हल भी चर्चा से ही निकला है.

बिहार राज्य के वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए भारतीय वायु सेना में कार्यरत प्रकाश पांडेय ने अपने गांव में एक स्कूल की शुरुआत करके अभिनव पहल की है. गांव में मुफ्त में कंप्यूटर और अंग्रेजी भाषा से शिक्षा उपलब्ध करवाके वो अपनी भूमिका निभा रहे है लेकिन क्या एक गांव से कुछ हो पायेगा. इसका जवाब हम सबको पता है : नहीं.

इसी ‘नहीं’ को ‘हाँ’ में परिवर्तित करने के लिए प्रकाश पांडेय ने अपने संस्थान ‘पाठशाला इंटरनेशनल स्कूल‘ के माध्यम से एक परिचर्चा आयोजन करने का फैसला किया है.

शिक्षा पे चर्चा‘ के नाम के प्रोग्राम के साथ पाठशाला टीम ने एक मंच प्रदान करने की कोशिश की है. शिक्षा क्षेत्र में शानदार काम करने वाले धुरंधरों को एक मंच पर लाकर बिहार और देश में शिक्षा क्षेत्र को बदलने के लिए मंथन किया जायेगा.

“शिक्षा पे चर्चा” में राज्य और देश से ऐसे लोग आ रहे हैं जिनसे मिलकर हम ग्रामीण परिवेश में कुछ बेहतर करने की योजनाए बना सकते है. शिक्षक , प्रोफेसर , डॉक्टर , कवि , कवियित्री , मोटिवेशनल स्पीकर और ऐसे भी लोग आ रहे हैं जो एक नई तकनीकी और सोच पर काम कर रहे हैं.

यह कार्यक्रम पाठशाला इंटरनेशनल स्कूल के छपरा जिले में बनियापुर गांव में स्थित कैंपस में गणतंत्र दिवस ( 26 जनवरी 2019 ) को आयोजित किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में शिक्षा जगत की कई हस्तियों ने शामिल होने का आश्वासन दिया है जिनमे से कुछ के नाम और जानकारी निम्नानुसार है:

विपुल शरण श्रीवास्तव : स्किल माइंडस फाउंडेशन के संस्थापक. IIT से पढ़ चुके है और सामाजिक एवं नेतृत्व क्षमता की गहरी समझ रखते है. ग्रामीण शिक्षा के उत्थान के लिए कई वर्षों से प्रयासरत

रवि प्रकाश पांडेय : Life ++ संस्थान के संस्थापक. बच्चों के पूर्ण विकास के लिए कई वर्षों से सक्रिय. प्रोजेक्ट VedicShaktis के माध्यम से कई बच्चों के साथ काम कर रहे है. साथ ही SKILL MINDS YOUNG INDIA CHANGE MAKER’S CLUB के स्किल डेवलपमेंट सेल के वाईस चेयरमैन के रूप में भी काम कर रहे है.

दिनेश कुमार पांडेय : पटना से आने वाले सामाजिक कार्यकर्त्ता. पिछले 26 वर्षों से शिक्षा क्षेत्र में सक्रिय और अब तक पटना शहर से 100 से ज्यादा CA देने वाली संस्था Team CC के सदस्य. अपनी शानदार नौकरी छोड़कर शिक्षा क्षेत्र में काम कर रहे है. कई अवार्ड से सम्मानित हो चुके है.

रवि भूषण कुमार : प्रसिद्ध विदेशी भाषा ‘अंग्रेजी’ के देशी गुरु. अंग्रेजी भाषा के विकास के लिए सतत प्रयासरत.

राजेश कुमार सिंह – भारतीय सेना में काम कर चुके है और अभी शिक्षा के क्षेत्र में अपनी सेवाए देने के लिए पटना स्थित टीम चार्टेड कॉमर्स में काम कर रहे है.

प्रियतम अभिनव – श्री कृष्ण एकलव्य परिवार के संस्थापक है. बिहार राज्य में शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए कई वर्षों से लगे हुए है. अपने यूनिक आईडिया और क्रिएटिविटी के दम पर मुलभुत सुविधाओं से वंचित बच्चों के लिए काम कर रहे है.

बसंत सिंह – ‘शिक्षा पे चर्चा ‘ कार्यक्रम के लिए काम करते है और ग्रामीण शिक्षा जगत को गहराई से समझते है. कई वर्षों से शिक्षा क्षेत्र में अपनी सेवाए दे रहे है.

मृणाल कश्यप – पटना क्षेत्र में गणित के प्रसिद्ध और अनुभवी शिक्षक. शिक्षा क्षेत्र की बारीकियों को समझने वाले मृणाल कई वर्षों से बिहार राज्य में काम कर रहे है.

शिक्षा क्षेत्र के धुरंधरों के साथ ही अन्य क्षेत्र के धुरंधर भी शामिल होंगे. पाठशाला इंटरनेशनल स्कूल की पूरी टीम के साथ ही छात्र -छात्रा और उनके माता-पिता भी शामिल होंगे. आप भी अगर बिहार के छपरा के आसपास ही रहते है तो समय निकल कर इस आयोजन में पहुंचे.

जिस तरह महात्मा गाँधी जी के चम्पारण सत्याग्रह ने देश की आजादी के संघर्ष का रुख परिवर्तित कर दिया. ठीक उसी तरह छपरा में आयोजित होने वाला यह कार्यक्रम देश के शिक्षा क्षेत्र की दिशा एवं दशा तय करने में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करवाएगा.

अगर आप भी इस प्रोग्राम में शामिल होना चाहते है तो इस लिंक पर क्लिक करे !

Comments

comments