Rupa Choudhary delivery girl : बदलते वक्त और बढ़ती जागरूकता के साथ महिलाओं ने समाज की तथाकथित बेड़ियां तोड़ना शुरू कर दिया. कभी घर और रसोई तक सिमटी उनकी ज़िन्दगी बदल रही है. हर क्षेत्र में पुरुषों की तरह वो भी काम करने का हौसला रखती हैं, चाहे वह कार्य कितना ही चुनौतीपूर्ण क्यों न हो.

ऐसी ही एक महिला है कोलकाता की रूपा चौधरी (Rupa Choudhary). जब ज़िन्दगी में मुसीबतों ने आगाज़ किया तो उन्होंने कड़ी मेहनत से उनका सामना किया. निजी ज़िन्दगी में विफल शादी और पिता की बीमारी के बाद मौत भी उन्हें अपने अडिग इरादों से नहीं डिगा सकीं. फ़ूड डिलीवरी और टैक्सी जैसे पुरुष प्रधान व्यवसायों में रूपा चौधरी काम कर रही है.

रूपा चौधरी वर्तमान में फ़ूड डिलीवरी कंपनी Swiggy में बतौर फूड डिलीवरी का काम करती है. इतना ही नहीं अपनी कमाई बढ़ाने के लिए वह Ola कैब और बाइक रेंटल ऐप रैपिडो से भी जुड़ी है. महीने के तीस हज़ार से ज्यादा कमाने वाली रूपा चौधरी ने समाज के सामने मिसाल पेश की है.

Rupa Choudhary with kid
अपने बेटे के साथ रूपा चौधरी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोलकाता की रहने वाली रूपा चौधरी का तलाक हो चूका है. अपने दस साल के बेटे को पाने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रही है. तलाक से पहले वो निजी कंपनी में 30 हजार की सैलरी पर काम कर रही थी लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.

पति से मनमुटाव के बाद रूपा का एकमात्र सहारा रहें पिता की तबियत बहुत खराब रहने लगी. उनकी देखभाल के लिए उन्होंने फुल टाइम जॅाब छोड़कर पार्ट टाइम जॅाब करने का फैसला किया. इसके बाद वो फ़ूड डिलीवरी कंपनी Swiggy से जुड़ी. लम्बी बीमारी के बाद पिता के गुजर गए तो रूपा अकेली रह गयी.

समय काटने के लिए वो टैक्सी कंपनी ओला कैब और बाइक रेंटल कंपनी रेपिडो ऐप से भी जुड़ गई. अब वह सुबह 8 से 5 तक स्विगी के लिए फूड डिलीवर करती है और शाम से रात तक ओला कैब चलाती है.

food delivery girl kolkata
काम के दौरान रूपा चौधरी

रूपा चौधरी (Rupa Choudhary delivery girl) बताती है कि, ‘मैं स्विगी से शाम 5 बजे के बाद फ्री हो जाती थी जिसके बाद अकेले घर में मन नहीं लगता था और घर खर्च चलाना भी मुश्किल हो रहा था. तब मैंने शाम के समय के लिए ओला कैब चलाने का फैसला किया. इससे महीने के करीब 20-25 हजार रुपए अतिरिक्त आ जाते हैं जिससे मेरा खर्च निकल जाता है.

आपको बता दें कि इस क्षेत्र में रुपा की एंट्री के साथ ही कई ऐप बेस्ड कंपनियां अब महिला कर्मियों को नौकरी देना चाहती है. Swiggy ने इस साल तक अपनी कंपनी में 200 महिला कर्मियों को नौकरी देने का ऐलान किया है.

बी पॉजिटिव इंडिया, रूपा चौधरी के साहस और जज्बे को सलाम करता है. उम्मीद करता है कि आप से प्रेरणा लेकर देश की महिलाये आत्मनिर्भर बनेगी.

Comments

comments