गुजरात के सूरत में एक कोचिंग सेंटर में भीषण आग लगने से हुए हादसे में 21 छात्रों को जान गंवानी पड़ी. इस दर्दनाक हादसे की गुजरात समेत पूरे देश में चर्चा हो रही है. चौथी मंजिल पर आग लगते ही छात्रों ने जान बचाने के लिए कूदना शुरू कर दिया. लेकिन चीख-पुकार के बीच जब सभी लोग इस हादसे का वीडियो बना रहे थे, तब एक शख्स ऐसा भी था जो जान बचाने की कोशिशों में जुटा था. केतन जोरवाडीया नाम के युवक ने तीसरी मंजिल पर रहकर कई छात्रों की जान बचाई.

बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर भीषण आग लगी थी. धधकती हुई आग के बीच छात्र बिना नीचे देखे अपनी जान बचाने के लिए कूद रहे थे. लेकिन केतन ने तीसरी मंजिल पर उतरकर छात्रों को गिरने से बचाया. उन्होंने ऊपर से कूद रहे छात्रों को तीसरी मंजिल पर उतरने में मदद की. केतन को छात्रों की मदद करता देख बाकी लोगों में भी हिम्मत आई और उन्होंने भी केतन का साथ दिया.

Surat-Classis-Aag-Hero-4
बच्चो को नीचे उतारने के लिए काम करते हुए केतन

केतन बताते है कि वहां काफी धुंआ भर गया था. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं. मैंने इसके बाद छात्रों को उस जगह से निकालने में मदद की और करीब 8-10 लोगों को निकाला. इसके बाद दो और छात्रों को नीचे उतरने में मदद की. फायर ब्रिगेड आग लगने के 40-45 मिनट बाद आई.

सूरत हादसे में गिरते हुए छात्रों की मदद करने वाले केतन की सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है. केतन को लोग हीरो बता रहे हैं. सोशल मीडिया पर लोग चर्चा कर रहे हैं कि बिना अपनी जान की परवाह किए केतन मदद के लिए आगे आए.

Surat-Classis-Aag-Hero-1
बच्चों को बचाने के लिए तीसरी मंजिल पर चढ़ गए थे केतन

सूरत के जिस कॉन्पलेक्स में आग लगी उसकी चौथी मंजिल पर अलोहा क्लासेस नाम का कोचिंग सेंटर था. पहले कहा जा रहा था कि छात्र कोचिंग सेंटर में पढ़ने आए थे, लेकिन मिली जानकारी के मुताबिक कोचिंग सेंटर गर्मियों की छुट्टियों के कारण बंद था और हादसे के दौरान मौजूद छात्र किसी एक्स्ट्रा क्लास के लिए आए थे.

बी पॉजिटिव इंडिया, हादसे में जान गंवाने वाले बच्चों एवं उनके प्रति संवेदना प्रकट करता है और केतन की बहादुरी और साहस को सलाम करता है.

Comments

comments