ब्रिटेन में नव-निर्वाचित प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपने कैबिनेट की घोषणा की. इसमें तीन भारतीयों मूल के सांसदों को भी जगह मिली है. प्रीति पटेल को गृहमंत्री जैसा अहम मंत्रालय मिला तो देश की नामी आईटी कंपनी इन्फोसिस के सहसंस्थापक एनआर नारायणमूर्ति के दामाद ऋषि सुनाक को कोषालय मंत्री और आलोक शर्मा को अंतरराष्ट्रीय विकास मामलों का विदेश मंत्री बनाया गया है.

47 वर्षीय प्रीति पटेल इस मुख्य पद पर पहुंचने वालीं भारतीय मूल की पहली महिला हैं. पुरे विश्व में तहलका मचाने वाले ब्रेग्जिट मुद्दे को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री थेरेसा मे की नीतियों की वो मुखर आलोचक थीं.

प्रीति 2010 में पहली बार एसेक्स के विथेम से कंजरवेटिव सांसद बनी थीं. डेविड कैमरन की अगुआई वाली सरकार में उन्हें भारतीय समुदाय से जुड़ी जिम्मेदारी मिली. 2014 में ट्रेजरी मिनिस्टर (जूनियर मिनिस्टीरियल पोस्ट) और 2015 में एम्प्लॉयमेंट मिनिस्टर बनाया गया. 2016 में थेरेसा मे ने उनका प्रमोशन कर डिपार्टमेंट ऑफ इंटरनेशनल डेवलपमेंट में विदेश मंत्री बना दिया. 2017 में उन्हें पद से इस्तीफा देने के लिए कहा गया.

uk cabinet
भारतीय मूल के सांसदों को मिली अहम जिम्मेदारियां | तस्वीर साभार : दैनिक भास्कर

कंजरवेटिव पार्टी में थेरेसा मे को हटाकर बोरिस जॉनसन को प्रधानमंत्री बनाने के लिए ‘बैक बोरिस’ कैम्पेन चला था, प्रीति इसका अहम हिस्सा थीं. जॉनसन के प्रधानमंत्री बनने के बाद उनको अहम जिम्मेदारी मिलना तय माना जा रहा था. प्रीति लंबे समय से ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन (ईयू) से बाहर निकलने की पक्षधर रही हैं. इसके लिए उन्होंने जून 2016 से ‘वोट लीव’ कैम्पेन भी चलाया था.

पद संभालने के कुछ घंटे पहले प्रीति ने कहा था कि यह जरूरी है कि कैबिनेट केवल नए ब्रिटेन ही नहीं बल्कि नई कंजरवेटिव पार्टी की भी अगुआई करे.

कार्यभार संभालने के बाद प्रीति ने कहा, ‘‘अपने कार्यकाल के दौरान मेरी पहली कोशिश यही होगी कि हमारा देश और यहां के लोग सुरक्षित रहें. बीते कुछ समय से सड़कों पर भी काफी हिंसा देखी गई है, हम इस पर भी रोक लगाएंगे. हमारे सामने कुछ चुनौतियां जरूर हैं लेकिन हम सबसे निपटेंगे.’’

Comments

comments