कौन कहता है कि आसमान में छेड़ नहीं होता है, एक पत्थर तो तबियत से उछालों यारो !

यह पंक्तियाँ मुंबई की एक लड़की पर सटीक बैठती हैं. जिस पेशे पर पुरुषों का एकाधिकार हैं और समाज में अवधारणा हैं कि हैवी ट्रक या बस महिलाये नहीं चला सकती हैं. इस लड़की ने इसे चुनौती की तरह लिया और मुंबई की पहली बेस्ट बस ड्राइवर बनी. समाज की अवधारणा को तोड़ने वाली लड़की का नाम हैं प्रतीक्षा दास.

इंजीनियरिंग की पढाई करने वाली प्रतीक्षा RTO अधिकारी बनना चाहती हैं और रेसिंग का शौक भी रखती हैं. सोशल मीडिया पर प्रतीक्षा काफी चर्चित हैं और इंस्टाग्राम में सेलिब्रिटी का दर्जा प्राप्त हैं. मुंबई की रहने वाली 24 साल की प्रतीक्षा दास ने एकसाथ कई धारणाओं को तोड़ा है. वह मुंबई की पहली महिला हैं, जिन्‍हें सड़क पर बस चलाने का लाइसेंस मिला है.

Pratiksha with cars
कार के साथ प्रतीक्षा दास | तस्वीर : प्रतीक्षा दास के इंस्टाग्राम प्रोफाइल से साभार

आम तौर पर यह माना जाता है कि सड़कों पर बस या ट्रक चलाना लड़कियों या महिलाओं का काम नहीं है और बस या ट्रक की ड्राइवरी करनी है, तो बहुत ज्‍यादा पढ़ाई करने की जरूरत नहीं है. लेकिन प्रतीक्षा इंजीनियर है. उन्‍होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है.

प्रतीक्षा देश की आर्थ‍िक राजधानी की सड़कों पर BEST बस चलाती हैं, प्रतीक्षा ने हाल ही में मलाड के ठाकुर कॉलेज से मैकेनिकल इंजिनियरिंग की है. प्रतीक्षा को गाड़‍ियों से बचपन से प्‍यार रहा है और हमेशा से वो हेवी मोटर व्‍हेकिल्‍स यानी बस और ट्रक चलाना चाहती थी.

प्रतीक्षा कहती हैं, ‘बीते 6 साल से लगातार मैं अभ्यास कर रही थी. मैंने सबसे पहले बाइक, फिर कार चलाना शुरू किया और अब मैं बस और ट्रक भी चला सकती हूं. लाइसेंस मिलना मेरे लिए सपने सच होना जैसा हैं.

pratiksha with bikes
बाइक के साथ प्रतीक्षा दास | तस्वीर : प्रतीक्षा दास के इंस्टाग्राम प्रोफाइल से साभार

प्रतीक्षा कहती हैं, ‘कौन कहता है कि महिलाएं ड्राइवर की सीट पर नहीं हो सकती हैं? मैंने इसका सपना देखा और मैं आज यहां हूं. यह बेहद खास है. मैं यह मानती हूं कि कोई भी इंसान अपने लक्ष्‍य को प्राप्‍त कर सकता है, बस उसे उसकी धुन होनी चाहिए.’

प्रतीक्षा बताती हैं कि उनकी 5 फुट 4 इंच की हाइट देखकर हर कोई कहता था कि वह बहुत छोटी हैं. हर किसी के मन में यही सवाल था कि वह बस चला भी पाएंगी या नहीं. लेकिन अच्‍छी बात यह है कि प्रतिक्षा ने कर दिखाया.

प्रतीक्षा ने जून, 2019 यानी पिछले महीने ही मैकेनिकल इंजिनियरिंग में अपनी डिग्री पूरी की है. वह आगे आरटीओ अधिकारी बनना चाहती हैं. इसके लिए उन्‍हें हेवी मोटर व्‍हेकिल्‍स के ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत थी, क्योंकि इस पद के लिए यह अनिवार्य है.

बी पॉजिटिव इंडिया, प्रतीक्षा दास की उपलब्धि पर बधाई देता हैं और भविष्य के लिए शुभकामनाए देता हैं.

( मीडिया रिपोर्ट्स पर आधारित )

Comments

comments