अपने सपने और जूनून को जीने का साहस रखिये क्योंकि दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है.

कॉलेज में पढाई के दौरान एक एनजीओ के जरिये झुग्गी-झोपड़ियों के बच्चों के साथ काम करने का मौका मिला. जब लगातार बच्चों से मिले तो उनकी असल समस्या समझ में आयी. इसके बाद उनकी समस्याओं को हल करने के लिए कॉलेज के दोस्तों के साथ ही संस्था शुरू की जो आज 1500 से ज्यादा बच्चों के जीवन में बदलाव ला चुकी है. दिल्ली और नॉएडा के कच्ची बस्तियों में कम्युनिटी सेण्टर भी खोल दिए है. भारत के निर्माण में देश के सबसे उपेक्षित वर्ग को शिक्षित करके मजबूत बना रही है नूपुर भारद्वाज (Nupur Bhardwaj) .

नूपुर भारद्वाज LECIN ( Let’s Educate Children In Need)  नाम से संस्था का संचालन करती है जो दिल्ली के ओखला एवं नॉएडा में झुग्गी झोपड़ी के बच्चों को पढ़ाती है. हिंदी, अंग्रेजी , गणित एवं विज्ञान के साथ ही नवाचार की पढाई करवाई जाती है. ओखला के कम्युनिटी सेण्टर में पढ़ाई के साथ प्रोजेक्ट डेवलपमेंट, आर्ट एंड क्राफ्ट के साथ म्यूजिक की भी शिक्षा दी जाती है.

LECIN के कम्युनिटी सेण्टर में सुबह के सत्र में गरीब बच्चों (3-6 वर्ष) के लिए प्ले स्कूल चलाया जाता है जबकि शाम को सरकारी विद्यालय में पढ़ रहे बच्चों के लिए ट्यूशन की व्यवस्था की जाती है. पढ़ाई के साथ ही सांस्कृतिक गतिविधियों, खेलकूद एवं पर्सनालिटी डेवलपमेंट पर भी ध्यान दिया जाता है. अभी LECIN टीम के साथ 44 लोग जुड़े हुए है जिनमे अधिकांश स्वयंसेवी है जो अपने प्रोफेशन से समय निकाल कर बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए काम कर रहे है.

LECIN Team
LECIN की टीम के साथ नूपुर भारद्वाज | | Photo Credits : LECIN’s Facebook Page

बी पॉजिटिव इंडिया से बातचीत के दौरान नूपुर कहती है कि जब मैं इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही थी तो कई एनजीओ के साथ काम करती थी. इसी दौरान मुझे कच्ची बस्तियों में बच्चों से बात करने एवं पढ़ाने का मौका मिला. कुछ समय काम करने के बाद समस्याओं को हल करने के लिए खुद की संस्था शुरू की.

2015 में LECIN की स्थापना की. शुरुआत में हमारे साथ कॉलेज के कुछ दोस्त थे और सप्ताहांत में झुग्गी झोपड़ी के बच्चों को पढ़ाने के लिए जाते थे. हम इस क्षेत्र में नए थे इसलिए कई समस्याओं का सामना करना पड़ा लेकिन समय के साथ-साथ सींखते गए और अब LECIN एक बड़ी संस्था का रूप ले चुकी है.

हमने 2015 में नयी दिल्ली के ओखला क्षेत्र की कच्ची बस्तियों के बच्चो को पढ़ाना शुरू किया. उस समय कई बच्चे गलियों में घूमते हुए या झगड़ते हुए मिलते थे. कुछ बच्चे सरकारी स्कूल छोड़कर अपराध एवं नशे जैसे काम भी करने लगे. हमने उन्हें पढ़ाने के लिए प्रेरित किया और उनकी सब समस्याओं का ख्याल रखा.

LECIN द्वारा संचालित कम्युनिटी सेण्टर
LECIN द्वारा संचालित कम्युनिटी सेण्टर | | Photo Credits : LECIN’s Facebook Page

धीरे-धीरे लोग जुड़ते गए और हमारी टीम भी बढ़ती गयी. हमने ओखला में एक कम्युनिटी सेण्टर बनाया और अब तक 1500 से ज्यादा बच्चों से जुड़ चुके है. हम दिल्ली और यूपी के गाँवो में भी काम करने की योजना पर काम कर रहे है. अगले कुछ वर्षों में 5000 से ज्यादा बच्चों को हमारे अभियान से जोड़ने का लक्ष्य है.

बच्चों को बेसिक शिक्षा के साथ ही प्रोजेक्ट डेवलपमेंट के साथ फन फ्राइडे जैसे आयोजन किये जाते है जिनमे बच्चों को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका दिया जाता है. हम बच्चों को शैक्षिक भ्रमण के साथ ही कई नयी तकनीक से भी रूबरू करवाते है.

nupur with kids
शैक्षिक भ्रमण के दौरान बच्चों के साथ LECIN टीम  | Photo Credits : LECIN’s Facebook Page

नूपुर भारद्वाज ने दिल्ली के प्रतिष्ठित रामानुजम कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और अभी अंकुश पंवार और रोहित कुमार के साथ LECIN की जिम्मेदारी संभाल रही है.

नूपुर कहती है कि किसी भी नए काम की शुरुआत में मुसीबतों का सामना करना पड़ता है लेकिन धैर्य के साथ की गयी मेहनत हमेशा फल देती है. आपको जो भी काम करना है उस पर लगे रहिये. सफलता जरूर मिलेगी.

अगर आप भी नूपुर भारद्वाज के काम में कुछ मदद करना चाहते है तो उनके फेसबुक पेज पर संपर्क करे !

बी पॉजिटिव इंडिया, नूपुर भारद्वाज और LECIN के समाज में बदलाव के कार्यों की सराहना करता है और उम्मीद करता है कि आप से प्रेरणा लेकर देश में बदलाव की नयी शुरुआत होगी.

Comments

comments