म्हारी छोरियां क्या छोरो से कम है क्या ?

आमिर खान की फिल्म ‘दंगल‘ का यह डायलाग उत्तर प्रदेश के भंवरी टोला गांव की दो लड़कियों पर सटीक बैठती है. पिता गांव में ही नाई का कम करते थे लेकिन बीमारी के चलते उन्हें बिस्तर पर लेटना पड़ा. घर की स्थिति यकायक बिगड़ी गई और दो समय की रोटी की व्यवस्था भी मुश्किल से होने लगी. ऐसे समय में घर की बेटियों ने पिता की दूकान पर काम करना शुरू किया और आज वो न केवल अपना परिवार चला रही है बल्कि सचिन तेंदुलकर की भी दाढ़ी बना चुकी है. शेविंग उत्पाद बनाने वाली कंपनी जिलेट ने उनके ऊपर एक विज्ञापन बनाया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी. इन दो लड़कियों का नाम है ज्योति (Jyoti) और नेहा(Neha).

नेहा और ज्योति दोनों मिलकर दुकान चलती है. पिता के इलाज और खुद की पढ़ाई के लिए वो ये काम कर रही हैं. वो मर्दों की शेविंग से लेकर चंपी तक करती हैं. वीडियो वायरल होने के बाद लोग उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं.


विज्ञापन में बताया गया है कि पिता का पेशा लड़के को विरासत में मिलता है. लेकिन लड़कियों को विरासत में गृहस्ती, रसोई और घर की जिम्मेदारियां मिलती हैं. जिसके बाद एक पिता लड़के के साथ नाई की दुकान में जाता है. जहां दो लड़कियां आती हैं और पूछती हैं- काका दाढ़ी बना दूं? बच्चा पिता से पूछता है- पापा ये लड़की होकर उस्तरा चलाएगी? पिता जवाब में कहता है- ‘बेटा उस्तरा को क्या पता उस्तरा चलाने वाला लड़की है या लड़का.’ जिसके बाद लड़की सेविंग करने लगती है.

sachin at neha and jyoti shop
सचिन तेंदुलकर ने नेहा और ज्योति को स्कालरशिप प्रदान की

सचिन तेंडुलकर इन लड़कियों से दाढ़ी बनावाने उनके गांव ही पहुंच गए. सचिन ने नेहा और ज्योति को ब्लेड बनाने वाली कंपनी जिलेट की ओर से स्कॉलरशिप भी प्रदान की. ये स्कॉलरशिप उन्हें पढ़ाई और काम में मदद करने के लिए दी गई है.

नेहा और ज्योति के पिता ध्रुव नारायण को लकवा मारा था. उस वक्त नेहा की उम्र 11 साल थी और ज्योति की 13 साल थी. पिता के इलाज और खुद की पढ़ाई के लिए नेहा और ज्योति को नाई का काम शुरू करना पड़ा. वो लड़कों के कपड़े पहनती हैं और लोगों का हेयर कट, शेव और नाई का सारा काम करती हैं. शुरुआत में दोनों लड़कियों को काफी परेशानी हुई लेकिन बाद में लोगों ने उन्हें स्वीकार कर लिया.

neha and jyoti at work
लोगो की शेविंग बनाती नेहा और ज्योति

वीडियो वायरल होने के बाद बॉलीवुड से लेकर खेल जगत की हस्तियां नेहा और ज्योति के काम की सराहना कर रहे है. इन दोनों ने परिवार की जिम्मेदारियां संभालकर यह साबित कर दिया है कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से कम नहीं होती है.

बी पॉजिटिव इंडिया, नेहा और ज्योति के काम की सराहना करता है और दोनों के उज्जवल भविष्य की कामना करता है.

Comments

comments