भारत जहाँ पर आर्थिक दृष्टि से मजबूत बनता जा रहा है तथा परिवहन क्षेत्र में कई आमूलचूल परिवर्तन हुए है । ओला और उबेर जैसी निजी कंपनियों ने लोगों के परिवहन को पूरी तरह से बदल दिया है लेकिन आज भी सभी भारतीय ऊंची कीमतों के कारण टैक्सी सर्विस का उपयोग नहीं कर पाते है । दिन-ब-दिन बढ़ते ट्रैफिक ने चौपहियाँ वाहनों की हालत बिगाड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी है तथा शहरों में दस किलोमीटर जाने के लिए भी घंटों का समय लग जाता है । यह एक ऐसी मुलभुत समस्या है जिससे सभी लोग पीड़ित है, इसी समस्या के निकारण के लिए मुंबई के नमित जैन (Namit Jain) ने एक आईडिया खोज निकाला है ।

यह भी पढ़ेकपड़े के थैले बनाने से लेकर करोड़ो रुपये की कंपनी बनाने वाले उद्यमी की कहानी

पेशे से चार्टेड अकाउंटेंट नमित ने देश में परिवहन क्षेत्र में क्रांति लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । कार की रेंटल सर्विस की तर्ज पर उन्होंने एक ऐसी कंपनी लांच की जो आपको वाजिब दाम में बाइक या दोपहिया वाहन किराये पर देती है । उनकी कंपनी ONN Bikes भारत के लगभग 5 शहरों में अपनी सेवाएँ उपलब्ध कराती है ।

कोई भी व्यक्ति इनकी कंपनी की वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन ( एंड्राइड और IOS ) के जरिये अपनी सुविधानुसार बाइक बुक करवा सकते है, जिनमे स्कूटर से लेकर महँगी कीमत वाले बाइक्स उपलब्ध है । प्रति घंटे के साथ ही कई अन्य तरीके के भी टैरिफ में से कोई भी ऑप्शन आप सेलेक्ट कर सकते है ।

यह भी पढ़ेअपना घर बेचकर करोड़ो की कंपनी खड़ी करने वाले दम्पति की कहानी

एक मारवाड़ी/गुजराती  जैन परिवार में पैदा हुए नमित ने बॉम्बे यूनिवर्सिटी से कॉमर्स में स्नातक की पढाई की तथा साथ ही चार्टेड अकाउंटेंट की परीक्षा भी 2012 में पास कर ली । मारवाड़ी /गुजराती  परिवार में पैदा होने वाले नमित शुरू से ही कुछ व्यवसाय करना चाहते थे लेकिन CA की पढाई के बाद बिज़नेस की मौलिक शिक्षा लेने के लिए एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में टैक्स कंसलटेंट के रूप में लगभग दो वर्षों तक कार्य किया ।

2015 में अपने एक मित्र के साथ मिलकर उन्होंने ONN Bikes की नींव रखीं और बैंगलोर से अपनी सेवाएँ देना प्रारम्भ किया । यूनिक आईडिया और जबरदस्त रणनीति के चलते जल्द ही बाइक रेंटल सर्विस क्षेत्र में उनकी कंपनी ने धाक जमाना शुरू कर दिया तथा मात्र दो वर्ष में उनकी कंपनी ने बैंगलोर, हैदराबाद . मैसूरु , जयपुर तथा उदयपुर में अपने पांव पसारना शुरू कर दिया । बेहतर आईटी उत्पाद एवं सर्विस की बदौलत उन्हें कस्टमर्स का प्यार मिलना शुरू हो गया ।

यह भी पढ़ेबिटकॉइन को आम भारतीयों तक पहुंचाकर करोड़ो कमाने वाला उद्यमी

एक मैगज़ीन को दिए गए इंटरव्यू में नमित ने अपने आईडिया के बारे में खुलासा किया ,

बकौल नमित ” हम जब गोवा या मनाली जाते है तो वहाँ पर बाइक रेंटल प्रचलन में है तथा बहुत कम दाम में हम अपनी पसंद की बाइक कुछ घंटों से लेकर पुरे दिन के लिए बुक कर सकते है तो टैक्सी के आसमान छूते दामों से त्रस्त बाक़ी शहरों में भी हम ऐसी सर्विस शुरू कर सकते है जो लोगों को अपनी सुविधा के अनुसार बाइक किराये पर मिल सके।”

नमित ने कंपनी के शुरुआती दौर के बारे में बताते हुए कहा कि ” सबसे बड़ी समस्या कानूनी रूप से थी क्योंकि बाइक्स के लिए कोई अलग से टैक्सी सर्विस जैसे नियम नहीं बने हुए थे लेकिन विभिन्न सरकारी एजेंसियों के साथ काम करते हुए हमने भारत की परिवहन और खासकर रेंटल सर्विस में नवीनीकरण का काम किया है । “

यह भी पढ़ेभारत की बड़ी स्टार्ट-अप में हिस्सेदारी के साथ ही करोड़ो रुपये की कंपनी खड़ी करने वाला युवा उद्यमी

कस्टमर्स को उच्च गुणवत्ता के आईटी उत्पाद के साथ ही उसकी सहूलियत का खास ध्यान रखा जाता है तथा कोई भी बाइक कस्टमर्स को देने से पहले कई स्तरीय क्वालिटी चेक्स किये जाते है तथा अगर कई पर बाइक में तकनिकी खामी आ जाती है तो कुछ शहरों में ऑन-रोड सपोर्ट भी दिया जाता है ।

नमित और उनकी टीम के परिश्रम और उनके आईडिया में संभावनाओं को देखते हुए देश के कई नामी-गिरामी निवेशकों ने उनकी कंपनी में निवेश किया है । निवेशकों से मिले पैसे से निमित और उनकी टीम अपनी कंपनी को अन्य शहरों में विस्तार करने की योजना के साथ ही अपने बेड़े में 1000 से ज्यादा बाइक करने का लक्ष्य आगामी कुछ वर्षों में रखा है ।

यह भी पढ़ेहिंदी माध्यम से IAS टॉप करने वाले युवा के संघर्षों की प्रेरणादायक कहानी

उदयपुर से अपनी प्रारम्भिक शिक्षा पूरी करने वाले नमित ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर परिवहन इंडस्ट्री में तहलका मचा दिया है और लोगो के सामने आने वाली समस्या को दूर करने का प्रयास किया है । उन्होंने अपनी मेहनत और नए आईडिया के दम पर अपनी कंपनी को स्थापित करने में कोई कसर बाक़ी नहीं रखीं है । निवेशकों के साथ ही उनकी कंपनी ग्राहकों में भी अपनी छाप छोड़ने में सफल रही है ।

ONN Bikes से बाइक बुक करने के लिए यहाँ क्लिक करे

यह भी पढ़े : रॉयल एनफील्ड को भारत का बड़ा ब्रांड बनाने वाले शख्स की दिलचस्प कहानी

Comments

comments