डॉ. कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन (Krishnamurthy Subramanian ) को भारत सरकार ने मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) बनाया है. उनकी नियुक्ति 3 साल के लिए होगी.

सुब्रमण्यन इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, हैदराबाद में एसोसिएट प्रोफेसर के रूप में अपनी सेवांए दे रहे हैं. आपको बता दे कि इस जुलाई में अरविंद सुब्रमण्यन के इस्तीफे के बाद सीईए का पद खाली था.

कृष्णमूर्ति शिकागो यूनिवर्सिटी से फाइनेंशियल इकोनॉमिक्स में पीएचडी के साथ ही देश के प्रतिष्ठित संस्थान आईआईटी और आईआईएम में पढ़ चुके हैं.

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन, कृष्णमूर्ति के संयुक्त पीएचडी गाइड थे. बैंकिंग, कॉरपोरेट गवर्नेंस और इकोनॉमिक पॉलिसी विशेषज्ञ के तौर पर कृष्णमूर्ति की दुनियाभर में पहचान है.

कृष्णमूर्ति सेबी की कॉरपोरेट गवर्नेंस समितियों और आरबीआई के गवर्नेंस ऑफ बैंक्स में एक्सपर्ट के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं.

वो अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट पॉलिसी पर सेबी की स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य हैं. इसी के साथ वो निजी क्षेत्र के बैंक ‘बंधन बैंक’ के बोर्ड में भी शामिल हैं.

इसी के साथ वो जेपी मॉर्गन और आईसीआईसीआई बैंक में भी कार्य कर चुके है. उसके साथ ही वो कई सेमिनार में भी भाग ले चुके है.

Comments

comments