देश के लिए सर्वस्व त्याग करने वाले पुलवामा हमले शहीदों के सम्मान में जो भी किया जाए वो कम हैं. शहीदों के परिवारों की मदद के लिए सरकार के साथ ही सामाजिक संस्थान, प्राइवेट एवं सरकारी संस्थानों के साथ ही आम लोगों ने भरपूर साथ दिया. इसी क्रम में देश के सर्वांगीण विकास के लिए काम करने वाले संस्थान किसान सारथी ने नयी दिल्ली में शहीदों के सम्मान में ‘रन फॉर मार्टियर्स’ का आयोजन किया गया.

राम तालाब मंदिर कुतब इंस्टिट्यूशनल एरिया नई दिल्ली में 26 मई 2019 को रन फॉर मार्टियर्स मैराथन का शानदार आयोजन किया गया. बड़े-बुजुर्गों से लेकर युवा, बच्चे, जवान एवं पूर्व सैनिकों ने बड़े उत्साह के साथ इस मैराथन में भाग लिया.

womens at event
मैराथन में महिलाओं की भागीदारी सराहनीय रही

किसान सारथी के संस्थापक और मैराथन के आयोजक बी पॉजिटिव इंडिया से बातचीत में अभिषेक वार्ष्णेय बताते हैं कि देश में अक्सर जवानो को सिर्फ़ 7 दिन याद कर 8वे दिए से सब भूल जाते हैं. ऐसे में पुलवामा अटेक के दो महीने बाद जहाँ सभी अपने अपने कार्य में व्यस्त हैं वही किसान सारथी द्वारा इसका आयोजन करना नये बदलाव की ओर इशारा करता है . किसान सारथी परिवार आगे भी ऐसे देश के वीर जवानो के लिए कार्यक्रम आयोजित करता रहेगा . हमारे देश के वीर जवान जहाँ हमारी रक्षा के लिये स्वयं अपना जीवन न्योछावर करते हैं तो हमें भी उनका सम्मान करते रहना चाहिए.

इस आयोजन में देश के कई हिस्सों से धावकों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया. इस मैराथन में अतिथि के रूप में एक्स आर्मी ऑफिसर देवेंद्र चौहान, भवेर पाल सिंह, सूबेदार नरेंद्र सिंह ने अपनी गरिमामय उपस्थिति दर्ज करवाई और सम्मान समारोह में बच्चों को सम्मानित कर उनका हौसला बढ़ाया.

मैराथन में भाग लेते प्रतिभागी

मैराथन में 21 किलोमीटर, 10 किलोमीटर, 5 किलोमीटर और 3 किलोमीटर की कैटेगरी थी. सभी कैटेगरीज में धावकों ने खूब बढ़ चढ़कर भाग लिया और अपनी प्रतिभा का शानदार प्रदर्शन किया. पुरुषों के साथ ही मैराथन में महिला धावकों के साथ ही कपल्स धावकों ने भी भाग लिया.

अभिषेक वार्ष्णेय आगे बताते हैं कि यह मैराथन बहुत ही सफल रहा जिसे लोगों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया और लोगों का सपोर्ट भी बहुत अच्छा रहा. इस मैराथन की सफलता के बाद आने वाले 8 सितंबर को इससे बड़े स्तर पर मैराथन का आयोजन किया जाएगा.

women at marathon
मैराथन की झलकियां

इस मैराथन में शामिल हुए समाज के प्रतिष्ठित गणमान्य महानुभावों ने धावकों के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी और कहा की मैराथन दौड़ जीतने और हारने के लिए ना दौड़े बल्कि स्वस्थ रहने के लिए दौड़े अगर आप स्वस्थ रहेंगे तो आपका परिवार भी स्वस्थ रहेगा और यह समाज में एक सकारात्मक मैसेज देता है. गोरखनाथ मन्दिर के महन्त सिद्धपुरुष बाबा बालकनाथ जी ने भी इस मैराथन में उपस्थिति दर्ज करवाई.

award ceremony
मैराथन की झलकियां

इस आयोजन में एम्बेसेडर्स का अभूतपूर्व योगदान रहा हैं. सुशील पन्ना, राजू पटेल, जीत, दानी सरन, अरविन्द सिंह, विजया उनियाल, नेहा भाटिया, रूही सिंह, भारती सभरवाल, पूनम अग्रवाल, नूपुर तिवारी , मीनू कौशिक और रेखा कंसल ने एम्बेसेडर के रूप में न केवल धावकों का मार्गदर्शन किया बल्कि आयोजन में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. देश के बेहतरीन रनर्स में शामिल इन धावकों के नाम कई रिकार्ड्स कायम किये हैं.

diyos hospital
दियोस हॉस्पिटल के मैनेजर मोहित भट्ट प्रतिभागियों का सम्मान करते हुए

मैराथन के बाद सम्मान समारोह आयोजित किया गया जिनमे धावकों का सम्मान किया. मैराथन में सभी ने लिटी चोखा का आनंद उठाया. मैराथन के आयोजन में मेडीकल पार्ट्नर के रूप दियोस हॉस्पिटल, ड्रिंक पार्टनर सत्तूज़, कुकीज़ पार्ट्नर इन्डियन सिस्टर्स किचन, डिजिटल मीडिया पार्टनर के रूप में गज़ब समाचार और बी पॉजिटिव इंडिया के साथ ही कई संस्थान जुड़े.

Comments

comments