विपरीत हालातों में कैसे सफल हुआ जा सकता है, वो एक महिला से ज्यादा कोई नहीं बता सकता. घर-परिवार की जिम्मेदारियों के बीच भी वो कुछ ऐसा कर गुजरती है जिससे के जमाना उनका दीवाना हो जाये.

अंतराष्ट्रीय एथलीट जिसने भारत को साउथ एशियन चैंपियनशिप में पदक दिलवाया था लेकिन बहन की शादी के लिए जब पैसों की जरूरत आन पड़ी तो मैराथन में दौड़ने का निर्णय लिया. इससे मिली राशि से वो अपनी बहन की शादी करवाएगी. इस एथलीट का नाम है पूनम सोनूने (Poonam Sonune).

गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली पूनम ने 2018 में आयोजित स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतकर एकाएक स्टार तो बन गयी लेकिन उसके परिवार के हालातों में ज्यादा सुधार नहीं हुआ.

महाराष्ट्र के बुलधाना जिसे के सांग्वान गांव से आने वाली पूनम के पिता एक खेतिहर मजदूर है. वह आर्थिक तौर पर इतने मजबूत नहीं है कि अपनी बेटियों की खुद के बलबूते शादी करवा सकें.

ऐसी परिस्थिति में पूनम ने घर की माली हालत सुधारने के लिए पुणे हाफ मैराथन में भाग लिया और महिला वर्ग में अव्वल रही. उनको इनाम के तौर पर 1.25 लाख रुपये मिले जिसकी मदद से उनकी बड़ी बहन की शादी हो पाएगी.

स्पर्धा में भाग लेती पूनम सोनूने | तस्वीर साभार : इंटरनेट

मात्र 19 वर्ष की पूनम ने घर के बड़े ‘बेटे’ की भूमिका निभाकर यह साबित कर दिया है कि छोरियां… किसी भी स्थिति में छोरो से कम नहीं होती. अंतराष्ट्रीय स्पर्धा में चयन के चलते वो अपनी बहन की शादी में भाग नहीं ले पायेगी.

पूनम नेपाल में आयोजित होने वाले सार्क गेम्स की एथेलेटिक्स प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी. इन खेलो में पदक जीतने का लक्ष्य लेकर चल रही पूनम अपने परिवार की माली हालत भी सुधारना चाहती है. इसके लिए उन्होंने ज्यादा से ज्यादा मैराथन में भाग लेने का निर्णय किया.

स्कूलिंग के दौरान ही पूनम ने साबित कर दिया था कि वह दौड़ने के लिए बनी हैं. इसलिए स्कूल ने खिलाड़ियों की मदद करने वाली संगठन की मदद से पूनम को दौड़ में हिस्सा लेने के लिए भेजा.

बता दें, भारतीय बॉक्सर विजेंद्र सिंह खिलाड़ियों के लिए यह संगठन चलाते हैं. इसके बाद पूनम ने गोल्ड मैडल जीतकर देश का नाम रोशन किया था.

बी पॉजिटिव, पूनम के हौसले एवं जज्बे की तारीफ करता है और आने वाली स्पर्धाओं के लिए पूनम को शुभकामनाए देता है. उम्मीद है आप से प्रेरणा लेकर देश की लड़कियाँ, खेलो के साथ ही परिवार को भी आत्मनिर्भर बनाएगी.

Comments

comments