चाय भारतीयों की दिनचर्या का अभिन्न हिस्सा बन चूका हैं। मेहमान-नवाजी से लेकर दिन की शुरुआत में चाय मिलती हैं लेकिन कई ऐसे लोग भी हैं जिन्हे चाय तो दूर खाना तक नसीब नहीं होता हैं। ऐसे में कोई चायवाला सुबह-सुबह गरीब एवं असहाय लोगो को मुफ्त में चाय बांटकर दिन की शुरुआत करे तो सुनने में अजीब लगता हैं लेकिन राजस्थान के जयपुर शहर की एक चाय दूकान पर हर सुबह 200 से 250 लोग चाय की दूकान पर कतार में खड़े होते हैं और उन्हें मुफ्त में चाय और बन दिया जाता हैं।

देश के गुलाबी नगर यानी जयपुर में अगर आप घूमने गए और ‘गुलाब जी चाय वाले‘ की चाय नहीं पी, तो आपकी यात्रा अधूरी मानी जाती है। गुलाब जी 94 साल के हैं और 1947 से उनकी दुकान शहर के एमआई रोड पर रोज़ खुलती है। उनकी दुकान पर हमेशा युवाओं से लेकर बूढ़ों तक की भीड़ लगी रहती है। इनकी चाय की तारीफ मशहूर सेलब्रिटीज़ से लेकर घूमने के शौकीन जैसे ट्रैवलर, फ़ूड ब्लॉगर करते हैं।

गुलाब जी कहते हैं, ‘1947 में मैंने एक छोटी सी चाय की दुकान से शुरुआत की थी। तब स्‍टॉल शुरू करने में 130 रुपये खर्च हुए थे। उस समय मेरे लिए मुश्‍क‍िलें बहुत आईं, क्‍योंकि किसी को यह मंजूर नहीं था कि राजपूत परिवार का लड़का सड़क किनारे चाय बेचे।’

tea stall jaipur
जयपुर के एम्आई रोड स्थित गुलाबजी की चाय की दूकान

आज गुलाब जी का वही छोटा सा स्‍टॉल ही पूरी दुकान है। इनकी कहानी कई बार प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ ही सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन चुकी हैं । गुलाब जी चाय एक गिलास 20 रुपये की बेचते हैं। यह बाजार के दूसरे चाय वालों से महंगी जरूर है, लेकिन उनकी दुकान पर आने वाले ग्राहक कहते हैं, ‘चाय का स्‍वाद बेहतरीन है। वह शुद्ध दूध में चाय बनाते हैं और उसमें एक खास तरह का मसाला डालते हैं, जिसकी रेसिपी सिर्फ उन्‍हें ही पता है।’

गुलाब जी की चाय के साथ ही उनकी इंसानियत की चर्चा रहती हैं। उनकी दुकान पर आने वाले हर गरीब को मुफ्त में चाय पिलाई जाती है और बन मस्‍का दिया जाता है। हर सुबह छह बजे उनकी दुकान के बाहर आपको 200-250 गरीब और बेसहारा लोग कतार में दिख जाएंगे। गुलाब जी की दुकान, उनके लिए सुबह की अच्‍छी शुरुआत है। गरीबों को मुफ्त में चाय पिलाने की परंपरा उनके लिए तब से चली आ रही है, जब से उनकी दुकान है।

गुलाब जी आज भी खुद से चाय बनाते हैं। उम्र 94 साल है, लेकिन उन्‍हें देखकर इसका अंदाजा कोई नहीं लगा पाता। वह कहते हैं, ‘मुझे सबसे ज्‍यादा ऊर्जा और हिम्मत अपने ग्राहकों से मिलती है।’

बी पॉजिटिव इंडिया, गुलाब जी की इंसानियत को सलाम करता है, उम्मीद करता हैं कि आप से प्रेरणा लेकर देश में गरीब एवं असहाय लोगो की मदद करेंगे।

(मीडिया रिपोर्ट्स पर आधारित)

Comments

comments