दोस्तो,

बीते क़रीब एक साल से BePositive.online के ज़रिए हम ख़बरों की दुनिया में से प्रेरणादायक खबरे लाने का काम कर रहे है. यही नहीं, तमाम उन ख़बरों और ज़रूरी जानकारियों को लेकर भी आपके सामने आ रहे हैं जिनके लिए कारोबारी मीडिया में कोई जगह नहीं बची है.

इस बीच हमें बहुत प्यार और सम्मान मिला है. बी पॉजिटिव को हिंदी जगत का एक ज़रूरी डिजिटल मंच माना जाने लगा है, न सिर्फ़ प्रेरणादायक कहानियों के लिए बल्कि उन प्रयासों के लिए भी जिनसे ग़ुज़रकर ही किसी समाज में परिवर्तन आता है.

बी पॉजिटिव की अब तक की यात्रा सिर्फ़ निजी प्रयास और कुछ मित्रों के सहयोग से संभव हुई है. हमने सारी गुल्लकें तोड़ डालीं और जेबें उलटते-पलटते हुए अब तक का सफ़र पूरा किया है, लेकिन अब इसे रफ़्तार देने के लिए संसाधनों की सख़्त ज़रूरत है. न हमारे पास कोई टीम है, न दफ़्तर और न अन्य ज़रूरी संसाधन.

संसाधन जुटाने के जो स्वाभाविक उपलब्ध रास्ते हैं, वह अक्सर उसी ओर जाते हैं जहाँ पत्रकारिता लोभ-लाभ की बेड़ी में जकड़ दी जाती है. फिर समाज में झूठ, अंधविश्वास, युद्धोन्माद फैलाते हुए शासकों के वकील बनकर खड़े हाहाकारी कारोबारी मीडिया से मुक़ाबला कैसे हो ? बहुत सोचने पर इसका एक ही जवाब मिला – पाठक!

तो हम पाठक यानी जनता की भागीदारी से जनता का मीडिया खड़ा करने का अभियान शुरू कर रहे हैं। सोच यह है कि 50 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले विशाल हिंदी भाषी समाज में ऐसे पाँच-दस हज़ार लोगों को जोड़ा जाए जो रोज़ाना 6-7 रुपये की मदद कर सकें. इतने रुपयों में एक कप चाय भी नहीं मिलती आजकल.

हम आपसे सिर्फ़ 200 रुपये महीने की मदद चाहते हैं. आप चाहे तो हमें एकमुश्त मदद भी कर सकते है.

अगर हमें सिर्फ़ पाँच हज़ार लोग ऐसे मिल जाएँ जो साल में एक बार 2000 तक की मदद कर दें तो हम देशभर में संवाददाताओं का एक जाल तैयार कर सकते हैं और पेशेवर पत्रकारों की एक टीम को बी पॉजिटिव से जोड़ सकते हैं.

Donate To Be Positive
Donate To Be Positive

आप अपना सहयोग सीधे बी पॉजिटिव मीडिया के बैंक खाते में भेज सकते हैं जो बी पॉजिटिव वेबसाइट चलाने वाली एक अलाभकारी संस्था है. आर्थिक मदद करने के लिए हर स्‍टोरी के अंत में और हर पेज पर एक बटन दिया गया है.

इस बटन को आप दबाएंगे तो चंदा देने के लिए आपकी सहूलियत के तमाम विकल्‍प मौजूद मिलेंगे- डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेटबैंकिंग, कई किस्‍म के वॉलेट और सरकारी यूपीआइ ऐप. आप राशि भरें और जिस भी माध्‍यम से चंदा देना चाहते हों, उसका विकल्‍प चुन लें. दो मिनट के भीतर इस तरीके से आप हमारी मदद कर सकते हैं.

हम जानते हैं कि यह आसान नहीं है लेकिन नामुमकिन भी नहीं है. हमें उम्मीद है कि आप ना सिर्फ़ ख़ुद 200 रुपये महीने की मदद करेंगे बल्कि दोस्तों को भी इसके लिए प्रेरित करेंगे. जो मित्र एकमुश्त ज़्यादा रक़म देकर बी पॉजिटिव के कोष को समृद्ध करना चाहते हैं, उनका स्वागत है.

पारदर्शिता की हम पूरी गारंटी लेते है, महीने की पहली तारीख को हम हमारे दान दाताओं की लिस्ट जारी करेंगे.

अगर 10 हज़ार रुपये या इससे ज़्यादा की मदद करना चाहें तो अपना पैन नंबर ज़रूर दें.

हमें यक़ीन है कि आप बी पॉजिटिव मीडिया के इस विचार से सहमत होंगे कि मौजूदा दौर में सच्ची पत्रकारिता करने के लिए पत्रकारों को आर्थिक संसाधान भी जुटाने होंगे. किसी सेठ के पैसे से पत्रकारिता करने का अंजाम यह है कि मुनाफ़े का प्रेत तमाम नामी पत्रकारों और संपादकों को अतीत का क़िस्सा बना चुका है.

आप आर्थिक मदद का सिलसिला इसी वक़्त शुरू कर सकते हैं. नीचे भगवा रंग से लिखे ‘आर्थिक सहयोग करें’ पर क्लिक करें और भुगतान करें.

आपके सहयोग के इंतज़ार में !

बी पॉजिटिव मीडिया टीम

Comments

comments