क्या चल रहा है …… फॉग चल रहा है !

ये वाक्य आज हर भारतीय की जुबान पर है और इसे कई बार मजाक के तौर पर भी लिया जाता है लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एक उद्यमी ने इस बॉडी डेओड्रैंट  ब्रांड को केवल सात वर्ष के अंतराल में भारत का नंबर वन ब्रांड बना दिया है । आज लगभग 3600 करोड़ के बॉडी स्प्रे मार्केट में अकेले फॉग की 20% हिस्सेदारी है तथा उसने अपने लॉन्चिंग के दो साल में ही मार्केट लीडर AXE को पटखनी दे दी । उच्च गुणवत्ता के साथ ही मार्केट में नवीनीकरण के दम पर FOGG (Friend of Good Guys/Girls) ब्रांड आज सभी का चहेता बना हुआ है । इस ब्रांड के पीछे है विनी कास्मेटिक (Vini Cosmetics) और उसके फाउंडर दर्शन पटेल (Darshan Patel)

यह भी पढ़ेदोस्तों से उधार लेकर भारत की कोल्ड ड्रिंक इंडस्ट्री को बदल देने वाला उद्यमी

FOGG बनाने वाले दर्शन पटेल का जीवन गुजरात के अहमदाबाद से शुरू होता है लेकिन उनका लालन-पालन उड़ीसा के सम्बलपुर में होता है । उनका परिवार एक भारत की जानी-मानी फार्मा कंपनी चलाते थे जिसने लोगों की दिनचर्या में अपनी जगह बना ली है । आज सब Moov, Krack, D’Cold and DermiCool आदि प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करते है तथा ये सब अपने सेग्मेंट्स में मार्केट लीडर है । इन ब्रांड्स के पीछे दर्शन और उनके भाइयों का व्यापरिक कौशल जाता है । इन्होने अपने परिवार के साथ मिलकर पारस फार्मा को भारत की मुख्य फार्मा कंपनियों में शामिल करवा लिया लेकिन फॉग और vini कास्मेटिक की यात्रा कुछ अलग है ।

Price: INR 799.00
Was: INR 1,199.00

केमिस्ट्री में ग्रेजुएशन करने वाले दर्शन के पास मार्केटिंग की कोई डिग्री नहीं है लेकिन लोगों की समस्याए हल करने के जबरदस्त ज्ञान के कारण उन्होंने पारस फार्मा (Paras Pharma) जो कि 1985 में 50 लाख की कंपनी थी ,उसे 1999 में 100 करोड़ की कंपनी बना दी । इसी प्रतिभा के चलते उन्होंने विनी कास्मेटिक कंपनी को 200 कर्मचारियों के साथ ही लगभग 1500 रिटेल स्टोर पर उनके प्रोडक्ट्स बेचे जाते है और सालाना टर्नओवर लगभग 800 करोड़ का है ।

यह भी पढ़ेगांव से आने वाले दो भाइयों ने 500 रुपये के निवेश से करोड़ो रुपये की कंपनी बना दी

2006 में अपने परिवार में अलगाव के कारण दर्शन ने पारस फार्मा कंपनी छोड़ दी और अपने हिस्से की 23 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर अपने फार्म हाउस में चले आये । पारस फार्मा से दर्शन के निकलने के बाद उसकी हालत ख़राब हो गयी और पटेल परिवार ने इस कंपनी को एक विदेशी निवेशक कंपनी को 2010 में बेच दिया । इसी बीच दर्शन अपने खुद के बुते पर कुछ करने के लिए मार्केट रिसर्च कर रहे थे और कास्मेटिक इंडस्ट्री में जाने का फैसला किया ।

Price: INR 899.00
Was: INR 1,899.00

दर्शन ने सबसे पहले 70 करोड़ के पूंजी निवेश में Vini cosmetics की 2009 में नींव रखी और 18 + नाम से पहला बॉडी डिओडोरेंट लांच 2010 की शुरुआत में किया लेकिन मार्केट में पहले से मौजूद बड़े ब्रांड्स की वजह से दर्शन को आशातीत सफलता हाथ नहीं लगी । अपनी असफलता के कारन जानने के लिए दर्शन ने मार्केट रिसर्च किया और उन्हें पता चला कि उनके प्रोडक्ट में कोई खास बात नहीं है और उनकी स्प्रे बोतल जल्दी ही ख़त्म हो जाती है ।

यह भी पढ़ेउधार के लिए पैसे से ट्रक खरीद कर 2000 करोड़ की ट्रांसपोर्ट कंपनी बनाने वाला उद्यमी

मार्केट रिसर्च के बाद उन्होंने एक और बॉडी स्प्रे ब्रांड लांच किया लेकिन वो भी बुरी तरह फ्लॉप रहा । उसके बाद दर्शन ने रिटेल शॉप के साथ ही पान एवं चाय के गल्लों पर लोगो से मिले और बॉडी स्प्रे के बारे में उनकी समस्याए जानने की कोशिश की । इसके बाद वो अपनी कंपनी के रिसर्च लैब में आये और ग्राहकों को कुछ अलग देने में अपनी कोशिश करने लगे । उन्हें पता चला कि चीन में ऐसे प्रोडक्ट्स उपलब्ध है जिनमे गैस की जगह लिक्विड रूप में स्प्रे बनता है । इन्होने इस मौके को दोनों हाथों से लिया और एक महीने के भीतर ही उन्होंने नए बॉडी स्प्रे का प्रोटोटाइप तैयार कर लिया ।


दर्शन ने 2011 के अंत में फॉग ब्रांड से एक बार फिर बॉडी डिओडरंट लांच किया लेकिन इस बार उनका आईडिया चल निकला । दर्शन ने गजब की आक्रामक मार्केटिंग रणनीति और अपने ब्रांड बनाने के अनुभव से इन्होने फॉग को सफल बनाने में इस्तेमाल किया । मार्केट में इन्होने एक अलग सेगमेंट तैयार किया जिसमे गैस की जगह लिक्विड फॉर्म में बॉडी स्प्रे बनना शुरू हुए ।

यह भी पढ़ेलाखों के कर्जे के बाद देश की बड़ी डिजिटल मीडिया कंपनी बनाने वाले शख़्स का सफर

दर्शन ने TV में अपने विज्ञापन देने के फैसले बड़ी चतुराई से लिए और उन्होंने मार्केट में उपलब्ध बॉडी स्प्रे की कमियों को उजागर करते हुए अपने विज्ञापन बनवाये । दर्शन में अपनी देखरेख में सब विज्ञापन बनवाये तथा मीडिया हाउस से बात करने से लेकर प्रिंट मीडिया में अपने प्रोडक्ट को चमकाने में ध्यान लगाया । अपने लांच के महीने में केवल 150000 बोतल बेचने वाले दर्शन ने दिसंबर 2017 में 40 लाख बॉडी स्प्रे की बोतल बेचीं ।

Fogg Black
Fogg Black perfume range

फॉग आज न केवल भारत का बड़ा ब्रांड बन चूका है बल्कि आज लगभग 700 करोड़ रुपये का व्यापार कर रहा है । दर्शन ने विनी कास्मेटिक के बैनर तले कई अन्य प्रोडक्ट्स भी लांच किये है तथा अन्य प्रोडक्ट्स से वो लगभग 150 करोड़ रुपये का व्यापार कर रहे है । आज उनकी कंपनी न केवल भारत बल्कि अरब देशों में भी FOGG का निर्यात कर रही है और लगभग तीन सालों से उनकी कंपनी मुनाफे में चल रही है ।

यह भी पढ़ेकपड़े के थैले बनाने से लेकर करोड़ो रुपये की कंपनी बनाने वाले उद्यमी की कहानी

आपको जानकर हैरानी होगी कि फॉग का कोई भी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट दर्शन पटेल के पास नहीं है ,वो अपना सारा माल दूसरी कंपनियों से बनवाते है तथा मार्केटिंग और ब्रांडिंग के दम पर अपने प्रोडक्ट्स बेचते है । इस कंपनी में उपजी अपार संभावनाओं ने भारत के साथ ही विदेशी निवेशकों को भी अपनी ओर आकर्षित किया है तथा मार्केट से लगभग 110 करोड़ रुपये का विनिवेश किया है ।

Price: INR 7,990.00
Was: INR 9,490.00

दर्शन ने अपनी व्यापारिक कुशलता एवं भारतीय अर्थव्यवस्था और उसके ग्राहकों की समस्याओं पर गहरी पकड़ के बलबूते केवल सात साल में 70 करोड़ के निवेश से भारत का नंबर वन ब्रांड फॉग बना दिया है । रिस्क लेने और आक्रामक मार्केटिंग रणनीति की बदौलत ही यह संभव हो पाया है ।

यह भी पढ़ेछोटी सी दुकान से 3500 करोड़ का विश्वस्तरीय ब्रांड बनाने वाले शख़्स का दिलचस्प सफर

Comments

comments