जवान भले ही सेना से निकल जाए, लेकिन उसके अंदर से आर्मी को निकाल पाना नामुमकिन है.

यह पंक्तियाँ भारतीय सेनाओं के वीर जवानों पर सटीक बैठती हैं. अपनी ड्यूटी के दौरान भारत की सुरक्षा एवं मान-सम्मान के लिए प्राण न्योछावर करने के लिए तत्पर रहते हैं तो छुट्टी या रिटायरमेंट के बाद समाज सेवा का काम करते हैं. ऐसे अनेकों उदाहरण हैं जहाँ भारतीय सेना के जवानों ने सामाज सुधार के लिए नयी राह दिखाई हैं. ऐसा ही कुछ किया हैं 74 साल के सीबीआर प्रसाद ने.

वायुसेना से रिटायर 74 साल के सीबीआर प्रसाद ने अपने जीवन की पूरी कमाई रक्षा मंत्रालय को दान कर दिया. यह रकम मामूली नहीं हैं बल्कि एक करोड़ रुपये से ज्यादा रकम हैं.

donation check
सीबीआर प्रसाद द्वारा दिया गया चेक

ANI की रिपोर्ट के अनुसार, प्रसाद ने बताया कि उन्होंने करीब 9 साल तक एयरफोर्स में काम किया था. उसके बाद वह मुर्गीपालन करने लगे और अपना फार्म खोल लिया. इसके बाद घर-गृहस्थी संभालने लग गया. जीवन में सारी जिम्मेदारियां पूरी करने के बाद मुझे लगा कि अब रक्षा क्षेत्र के लिए कुछ करना चाहिए. फिर मैंने 1.08 करोड़ रुपये दान करने का फैसला किया.’

सीबीआर प्रसाद ने 15 जुलाई 2019 को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर मदद का चेक सौंपा. परिवार भी उनके इस फैसले के समर्थन में हैं.

प्रसाद बताते हैं कि ‘बिल्कुल, किसी को कोई समस्या नहीं थी. मैंने प्रॉपर्टी का 2 प्रतिशत बेटी और 1 प्रतिशत पत्नी को दिया है. बाकी 97 प्रतिशत कमाई या बचत दान की है. मेरे लिए यह समाज को वापस देने जैसा है.’

poultry farm
पूर्व वायुसैनिक सीबीआर प्रसाद ने मुर्गीपालन के जरिये की कमाई | प्रतीकात्मक तस्वीर

किसी वक्त में उनकी जेब में सिर्फ 5 रुपये थे और मेहनत करके उन्होंने अपने जीवन में 500 एकड़ जमीन खरीद ली. इसमें से 5 एकड़ उन्होंने पत्नी और 10 एकड़ बेटी को दी है.

पूर्व वायुसैनिक प्रसाद बताते हैं कि वह देश के लिए ओलिंपिक मेडल जीतना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. अब वह अपने सपने को देश के दूसरे बच्चों के जरिये पूरा करना चाहते हैं. इसके लिए उन्होंने स्पॉर्ट्स यूनिवर्सिटी भी शुरू की हैं, जहाँ पर प्रतिभावान बच्चों को मुफ्त में प्रशिक्षण दिया जाता हैं.

बी पॉजिटिव इंडिया, पूर्व वायुसैनिक सीबीआर प्रसाद के त्याग एवं देश सेवा की भावना को सलाम करता हैं. उम्मीद करता हैं कि आप से प्रेरणा लेकर लोग देश-सेवा के लिए प्रेरित होंगे.

Comments

comments