शानदार नौकरी के साथ ही घर एवं गाड़ी की व्यवस्था भी मौजूद थी लेकिन कहीं न कहीं अपने पैतृक व्यवसाय से लगाव हमेशा रहा । इसी के चलते जब नयी नौकरी के दौरान कंपनी प्रबंधन से मन-मुटाव हुआ तो बिना ज्यादा परेशान हुए 18 लाख के सालाना पैकेज वाली नौकरी को अलविदा कह दिया । नौकरी छोड़ने के बाद शहर के ही एक इलाके में मिठाई एवं फ़ास्ट फ़ूड की दुकान शुरू कर दी और शुरुआत के दिनों ने कुछ संघर्ष करने के बाद आज वो न केवल संतुष्ट है बल्कि लाखों रुपये महीने के भी कमा रहे है । ऐसी ही कुछ कहानी है बृजभूषण चतुर्वेदी (Brijbhushan Chaturvedi) की ।

Price: INR 7,990.00
Was: INR 9,490.00

मथुरा के रहने वाले बृजभूषण चतुर्वेदी ने टेक्सटाइल इंजीनियरिंग में अपनी पढाई करने के बाद राजस्थान के भीलवाड़ा शहर जो कि वस्त्र नगरी के रूप में विख्यात है , के एक कंपनी में 2009 में काम करना शुरू किया । नौकरी में पांव ज़माने के बाद उन्होंने अपने परिवार को भी भीलवाड़ा लेकर आ गए । इस समय तक सब कुछ सही चल रहा था और इसी बीच उन्हें दिल्ली की एक गारमेंट कंपनी से भी काम करने के लिए ऑफर आना शुरू हो गए थे ।

चतुर्वेदी ने 2009 से 2013 तक भीलवाड़ा के रीको ग्रोथ सेन्टर स्थित एक प्रोसेस हाउस में काम किया। फिर आठ माह तक आराम करने के बाद देवास स्थित एसकुमार के साथ जुड गए। करीब ढाई साल वहां नौकरी की। दिल्ली में एक कंपनी ने डेनिम प्रोसेस व गारमेन्ट उद्योग की स्थापना की और चतुर्वेदी की प्रतिभा को देखते हुए उन्हें 18 लाख का पैकेज मिल रहा था।

Price: INR 10,990.00
Was: INR 12,990.00

परिवार से दूर रहे रहे चतुर्वेदी ने इसी दौरान भीलवाड़ा के एक उद्योग से सम्पर्क हुआ। कम्पनी ने 16 लाख का ऑफर दिया। इस ऑफर को इसलिए स्वीकार कर लिया था कि परिवार भीलवाड़ा रह रहा था। एक मोटे पैकेज पर नौकरी मिलने के साथ ही चतुर्वेदी की प्रोफेशनल लाइफ में तूफान आना बाकी था ।

brijwasi sweets
बृजभूषण चतुर्वेदी की मिठाई की दुकान बृजवासी स्वीट्स

राजस्थान पत्रिका से बातचीत में बृजभूषण चतुर्वेदी ने बताया कि 18 लाख की नौकरी छोडकर भीलवाड़ा आने के दो माह बाद ही कम्पनी के प्रबन्धकों के साथ मतभेद हो गया था। ऐसे में नौकरी भी छोडऩी पड़ी। इस छोटे से तनाव ने जिन्दगी को ही बदल दिया। काफी विचार विमर्श के बाद अपना परम्परागत मिठाई का काम शुरू करने की ठान ली और पुर रोड पर दुकान खोल ली। वह अच्छी तरीके से चल निकली। आज वे अपने परंपरागत व्यवसाय को अपना कर खुश है। इसे आगे बढ़ाने की सोच रहे हैं।


भीलवाड़ा शहर के पुर रोड एसके प्लाजा स्थित बृजवासी स्वीट्स पर हर त्योहार के अवसर को देखते हुए मथुरा की विशेष मिठाइयां उपलब्ध होती हैं। संचालक बृजभूषण चतुर्वेदी ने बताया कि मावा गुजिया, ड्राई फ्रूट गुजिया, चंद्रकला, बालूशाही स्पेशल, ड्राई फ्रूट बर्फी सहित फास्टफूड एवं स्पेशल बंगाली मिठाइयां उपलब्ध हैं। चतुर्वेदी ने अपनी मिठाई की दुकान को आगे बढ़ाने के लिए रणनीति बनाना शुरू कर दिया है जिनमें शहर के साथ ही आसपास के क्षेत्रों में अपनी दुकान का विस्तार करना है ।

 

Comments

comments