कहते हैं कड़ी मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती है, जिसे सार्थक कर दिखाया राजस्थान के बाड़मेर जिले के नेहरों की ढाणी सिणधरी के रहने वाले गौरव आयुष सारण (Ayush Saran) ने। आयुष ने अपना बचपन गरीबी में निकाला। पिता राजूराम सारण किसान हैं, जिनके इतने पैसे नहीं थे कि आयुष को पढ़ाएं।

लेकिन आयुष की पढ़ाई के प्रति ललक इतनी थी कि वह कमठे पर मजदूरी के लिए गया, बजरी के ट्रक खाली किए और अपनी पढ़ाई को निरंतर जारी रखा। गांव में स्कूली शिक्षा के बाद सीनियर सैकंडरी तक की पढ़ाई बाड़मेर से की।

इसके बाद जुलाई 2014 से आईएमए में प्रशिक्षणरत है। इस ट्रेनिंग के दौरान आयोजित गतिविधियों और प्रदर्शन के आधार पर अलग-अलग रेजीमेंट के लिए चयन होता है। कड़ी मेहनत, उत्साह और कार्य कुशलता के कारण आयुष को भारत के सबसे मजबूत कही जाने वाली रेजीमेंट टू पैरा स्पेशल फोर्स के लिए चयनित किया गया।

इंडियन मिलिट्री एकेडमी (IMA) देहरादून में आयोजित पासिंग आउट परेड में चार वर्ष की कड़ी ट्रेनिंग के बाद आयुष को लेफ्टिनेंट की रैंक प्रदान की गई। देहरादून में आयोजित दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में नेपाल के सेनाध्यक्ष जनरल राजेन्द्र चेती मौजूद रहे।

पाइपिंग सेरेमनी में माता हीरोदेवी और पिता राजूराम सारण भी बाड़मेर की पारंपरिक वेशभूषा में थे। उनके साथ एनसीसी अधिकारी कैप्टन डॉ. आदर्श किशोर, उजास के संयोजक सुरेश कुमार सारण, एनवाईवी कैलाश कुमार और सतवीर सारण आदि मौजूद रहे।

लेफ्टिनेंट आयुष का बाड़मेर के युवाओं के लिए संदेश

राष्ट्र सेवा और जज्बे के लिए सर्वोत्तम क्षेत्र सेना है। यहां हार्डवर्क, बहादूरी, साहस व उत्साह से उच्च मुकाम पाया जा सकता है। बाड़मेर के युवाओं में बहुत काबिलियत है, लेकिन अभी तक विजन छोटा रखकर सिर्फ सेना में जवान तक ही भर्ती होते हैं। उचित तैयारी से उन्हें सैन्य अधिकारी के रूप में आगे आना चाहिए।

मैंने इसके लिए बहुत सी बाधाओं को तोड़ा है। इंग्लिश और ऑफिसर लाइक क्वालिटी के लिए बहुत अभ्यास किया। मन में एक ही धुन सवार थी कि कुछ करके दिखाना है। आज मैं बहुत खुश हूं। मेरी खुशी के पीछे मेरे माता-पिता का बहुत बड़ा त्याग है।

यह है पैरा स्पेशल फोर्स

पैरा स्पेशल फोर्स भारतीय सेना की सर्वोच्च लड़ाकू और खतरनाक टास्क को अंजाम देने वाली मानी जाती है। मुंबई आतंकी हमले, सर्जिकल स्ट्राइक और उड़ी हमले में पैरा ने अद्भुत पराक्रम का परिचय दिया था।

Comments

comments