बिहार के मुजफ्फरपुर और आसपास के चार जिले ‘चमकी बुखार(AES)‘ से त्रस्त हैं. अब तक 130 से ज्यादा बच्चे काल का ग्रास बन चुके हैं. सैंकड़ों बच्चे सरकारी अस्पतालों में जीवन और मौत से संघर्ष कर रहे हैं. चमकी बुखार के पीछे गर्मी, लू, कच्ची लीची, कुपोषण और जागरूकता का अभाव जैसे कई कारण गिनाये जा रहे हैं.

टीवी मीडिया ने इस घटना को जिस तरह से कवर किया हैं, उसे लेकर कई सवाल उठ रहे हैं. सरकार एवं प्रशासन पर भी अंगुली खड़ी की जा रही हैं लेकिन इसी चमक-धमक के बीच एक पत्रकार ने सोशल मीडिया के जरिये फण्ड इकठ्ठा किया और स्वयं अस्पताल पहुँच कर काम किया हैं.

आनन्द दत्ता, सत्यम कुमार झा, रोमित रंजन सिंह के साथ ही कई युवा इस पुनीत कार्य में लगे हुए हैं. आनंद दत्ता इस पूरी मुहीम को लीड कर रहे हैं. वो पत्रकार हैं और भारत के नामचीन अख़बार में काम करते हैं.

help at bihar
बीमार बच्चों के परिजनों के लोए खाने की व्यवस्था की जा रही हैं

बिहार में चमकी बुखार के कारण हो रही मौतों के लिए शिकायत करने के बजाय निवारण का हिस्सा बनने का प्रयास किया. मुजफ्फरपुर के बड़े अस्पताल SKMCH अस्पताल में कैम्प लगाया. ब्लिक फंडिंग से प्राप्त पैसों से पहले मरीज के परिजनों के लिये खाने का इन्तजाम किया और गर्मी में पीने के पानी की व्यवस्था में जुट गये. दो वाटर प्यूरिफायर लगवा चुके हैं और तीसरा लगवाने के इंतज़ाम हो रहे हैं.

अस्पताल परिसर में 13-14 प्यूरिफायर पहले से लगे हैं, जो छोटी-छोटी गड़बड़ी की वजह से बन्द हैं, सो उनको ठीक कराने में जुट गये. फिर नजर गयी कि परिजनों के बैठने की जगह लगे कई पंखे खराब हैं, इसके लिये इलेक्ट्रिशियन बुला लिए. इस सारे काम में मुश्किल से 70-80 हजार रुपये खर्च हुए होंगे, लेकिन इन्होने मरीज के परिजनों के खाने-पीने और इस भीषण गर्मी में चैन से बैठने की व्यवस्था कर दी है.

repair
अस्पताल में रिपेयर के बाद चल रहे हैं पंखे एवं वाटर कूलर

आनंद दत्ता ने अपनी फेसबुक वाल पर लिखा है कि शुरुआती काम हो चुका, भले ही अब पैसा मत भेजिए, परन्तु गाँव-गाँव जाकर चमकी बुखार के खिलाफ जमीन पर काम करके जागरूकता अभियान के लिए वालंटियरों की अधिक आवश्यकता है. उनका उद्देश्य हैं लोगो को जागरूक करना जिससे कि वो प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल पर ज्यादा निर्भर न रहे.

मुज़फ्फरपुर में पत्रकारों, छात्रों की इस टीम की आप भी आर्थिक मदद दे सकते हैं. यह टीम ग्लूकॉन डी, थरमामीटर, पानी, दवाई लेकर गांव-गांव घूम रही हैं. ताकि जहां तक संभव हो, कुछ बच्चों को हॉस्पिटल आने से पहले ठीक किया जा सके. आपसे मदद की दरकार है.

Awarness program
गाँवो में जाकर लोगो को चमकी बुखार के बारे में जागरूक कर रही हैं युवाओं की टीम

AC- 00031140291318
Name ANAND KUMAR DUTTA
Ifsc code – HDFC0000003
Bank- HDFC
Paytm नंबर : 8467035941 (सत्यम कुमार झा)

आनंद दत्ता के साथ ही सोशल मीडिया के जरिये किये गए कार्य में कई लोगो ने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से काम किया हैं, इन सभी को बी पॉजिटिव इंडिया धन्यवाद् देता हैं.

Comments

comments